Deepavali Celebration: Festival of Lights in India – Happy Diwali 2016

दिवाली (Diwali)/दीपावली: फेस्टिवल ऑफ़ लाइट्स (रौशनी का त्यौहार) प्राचीन हिन्दू त्यौहार है जो भारत में पतझड़ के समय मनाया जाता है| दिवाली भारत का सबसे बड़ा और प्रकाशमयी त्यौहार है, ये त्यौहार हर साल बुराई पर अच्छाई की जीत के रूप में मनाया जाता है….| दीवाली पर मुख्यतः लोग अपने घरों और काम करने की जगह की साफ़-सफाई और सजावट करते है| दीवाली भारत और नेपाल में सबसे बड़ी शॉपिंग सीजन में से एक है| दिवाली पर दीये जलाये जाते है, आतिशबाज़ी की जाती है, लोगो और रिश्तेदारों को उपहार में मिठाई और सूखे मेवे दिए जाते है|

Deepavali Celebration in India – Festival of Lights – Happy Diwali 2016

दिवाली निराशा पर आशा की, अज्ञान पर ज्ञान की, अंधकार पर प्रकाश की और बुराई पर अच्छाई की जीत के प्रतीक के रूप में देखा जाता है|

Diwali Celebration 2016 Wallpaper

प्राचीन हिंदू महाकाव्य रामायण के अनुसार दिवाली राम के 14 साल के वनवास से वापसी के रूप में राम, उनके भाई लक्ष्मण और सीता के सम्मान में उनके आने की ख़ुशी में मनाया जाता है|

Diwali Festival Dates 2016 In India

  1. Dhanteras – Friday, October 28, 2016
  2. Naraka Chaturdasi/ Choti Diwali – Saturday, October 29, 2016
  3. Laxmi Pooja/Diwali (Deepavali) – Sunday, October 30, 2016
  4. Padva/Govardhan Puja/Annakoot – Monday, October 31, 2016
  5. Bhai Duj/Bhaiya Doojh – Tuesday, November 1, 2016

ये त्यौहार 5 दिन का होता है… जिसमे धनतेरस, छोटी दिवाली, दिवाली, गोवर्धन पूजा और भाई दूज के रूप में मनाया जाता है….|

01 धनतेरस (Dhanteras) – दिवाली का पर्व जो की मुख्यतया 5 दिन का त्यौहार है उसका प्रारंभ धनतेरस से होता है, ये दिन धन और समृद्धि की देवी लक्ष्मी जी का जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है, इस दिन महिलाये घरो में रंगोली बनाती है, आदमी अपनी दुकानों, ऑफिस को सजाते है| इस दिन लोग नयी गाड़ियां, सोने और चांदी के गहने, बर्तन, इलेक्ट्रॉनिक आइटम्स और कपड़ो की खरीदारी मुख्य रूप से करते है|

02. छोटी दिवाली (Choti Diwali) – ये त्यौहार का दूसरा दिन है, इस दिन घर को सजाया जाता है, छोटी पूजा की जाती है, रंगोली के साथ दीये जलाये जाते है और महिलाये अपने हाथों में मेहँदी लगाती है|

03. दिवाली (Diwali) – ये 5 दिन के त्यौहार का सबसे मुख्य दिन है… इस दिन लोग नए कपडे पहनते है शाम को उसके बाद लक्ष्मी जी की पूजा की जाती है, ताकि घर में धन, सुख-समृद्धि और उनका आशीर्वाद बना रहे| घरों, दुकानों और ऑफिस को दीये, मोमबत्ती जलाकर रौशनी से जगमग कर दिया जाता है… लक्ष्मी जी की पूजा के बाद लोग घरो से बाहर निकल कर पटाखे फोड़ते है, छोटे बच्चे फुलझड़ी और अन्य छोटे पटाखे फोड़ते है जबकि बड़े लोग रॉकेट्स, सुटली बम, ज़मी चक्र, अनार और बड़े पटाखे फोड़कर इस दिन को सेलिब्रेट करते है| बड़ो से आशीर्वाद लिया जाता है, लोगो को शुभ-कामनाये दी जाते है, मिठाईयां खिलाई जाती है| चारो तरफ दीये जलने से हर कोना हर जगह प्रकाश से जगमगा जाती है|

04. गोवर्धन पूजा या अन्नकूट (Goverdhan Pooja/ Annakoot) – दीवाली के बाद वाला दिन पड़वा के रूप में मनाया जाता है| इस दिन पत्नी और पति के बीच आपसी प्रेम के रूप में भी मनाया जाता है| कई जगहों पर इस दिन अपने पति के साथ नव-विवाहित बेटियों को विशेष भोजन के लिए आमंत्रित करते हैं। भगवान कृष्ण के सम्मान में गोवर्धन पूजा करते हैं। इस दिन लोग अपने पुराने बही खाते बंद करके नए बही खाते रखते है|

05. भाई दूज (Bhai Duj) – ये 5 दिन के त्यौहार का आखिरी दिन होता है इस दिन भाई-बहनों के आपसी रिश्ते, प्रेम और समझ का पर्व है रक्षाबंधन के समान| इस दिन बहने अपने भाइयो के राखी तिलक करके उनको खाना खिलाती है और भाई अपनी बहनों को उपहार देते है…|

दिवाली त्यौहार आपसी सहोदर्य, भाईचारे का त्यौहार है, लोग एक दुसरे से गिला-सिकवा भुलाकर आपसी मेलजोल और प्रेम की मिसाल कायम करते है| सभी लोगो को Vella Di की तरफ से दिवाली की हार्दिक शुभ-कामनाये, लक्ष्मी जी आपकी धन, सुख-समृद्धि, अच्छे स्वास्थ्य के साथ-2 अपना आशीर्वाद सदेव आप पर बनाये रखे| Happy Diwali 2016

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *